होशियार कैसे बने, अपने आपको होशियार कैसे बनाये ? (20 Best Tips)


होशियार कैसे बने, अपने आपको होशियार कैसे बनाये ?
दोस्तों जैसा कि आप सब जानते है कि आजकल जमाना कितना बदल गया है। जहा देखो वही छल कपट, बेईमानी और धोखा और न जाने क्या क्या। ऐसे में अब किसी भी सीधे सादे इंसान के लिए जीवन कितना मुश्किलों भरा हो गया है। 

ये बात आप भी मह्सूस करते होंगे कि इस दुनिया में अब होशियार रहना कितना जरुरी हो गया है। अगर हम होशियार बनकर रहेंगे या जरुरत पड़ने पर थोड़ी समझदारी से काम लेंगे तो शायद आप अपनी लाइफ को आसानी से, ख़ुशी से और बिना किसी डर से जी सकेंगे। 


हालांकि कुछ लोग जन्म से ही होशियार होते है तो वही कुछ लोग बिलकुल सीधे सादे और भोले भाले जिनको जैसे चाहो कोल्हू के बैल की तरह हाँक लो उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता और ऐसे लोग अपनी लाइफ में कुछ ख़ास नहीं कर पाते है। हर कोई उन्हें अपने मतलब के लिए यूज़ करने लगता है और वो आसानी से हर किसी की बातों में भी आ जाते है। 
होशियार कैसे बने, अपने आपको होशियार कैसे बनाये
होशियार कैसे बने, अपने आपको होशियार कैसे बनाये ? (20 Best Tips)



आपने कई लोगो को यह कहते हुए सुना होगा कि फला लड़का या लड़की कितना होशियार है किसी भी काम को कितनी आसानी से पूरा कर लेता है।

कहने का मतलब यह है कि एक होशियार इंसान के लिए कोई भी काम मुश्किल नहीं होता है वो किसी भी मुश्किल वक़्त से अपने आपको बाहर निकल ही लेता हैं। 

तो होशियार कैसे बने? और ऐसा क्या करे कि जिससे हम भी ज़माने से आगे निकल सके और दुनिया दारी को होशियारी से जी सके। 

इसके लिए आप ये लेख जरूर पढ़े जहां आप जानेंगे की होशियार कैसे बने, अपने आपको होशियार कैसे बनाये ?


अपने आपको होशियार कैसे बनाये ?


1 . किसी भी बात से डरे नहीं: 

डर किसी भी इंसान में एक अजीब किस्म की शंका पैदा कर देता है जिसके कारण व्यक्ति अनायास ही छोटी छोटी बात पे डरने लगता है। और इसी डर के कारण व्यक्ति अपने जीवन में किसी भी नए काम को करने में डरने लगता है ये डर असफलता का भी हो सकता है या फिर लोगों की बातों का आदि कुछ भी। 

इसलिए जरुरी है कि अपनी लाइफ से डर को सबसे पहले दूर भगाये और नीडर बने। अपनी लाइफ में कुछ भी नया करने से डरे नहीं। जब आप धीरे धीरे अपने डर पे काबू पाने लगते हो तब आपके अंदर एक अलग ही तरह का उत्साह पैदा होता है और ये उत्साह ही एक इंसान को बड़े बड़े काम करने के लिए प्रेरित करता है। 


2 . अपने आपको किसी से कम न समझे:

कई लोगो में ये आदत होती है कि वो अपने आपको हमेशा किसी न किसी से तुलना करते रहते है और फिर कही न कही खुद को कमजोर समझने लगते है। 

ये दब्बूपन इंसान को अंदर से कमजोर बनाता है जिससे वो अपने ज्ञान का खुलकर उपयोग नहीं कर पाता है। अतः होशियार इंसान बनना है तो इस दब्बूपन को आज से ही अपने अंदर से निकाल दे और सिर्फ ये सोचे कि आप जो भी करेंगे वो अच्छा ही करेंगे। 


3 . किसी भी काम में बढ़चढ़ कर हिस्सा ले:

होशियार व्यक्ति किसी भी काम में आगे बड़ चढ़कर हिस्सा लेते है और वो किसी भी छोटे- बड़े मौके को हाथ से जाने नहीं देते है। इससे उन्हें अपनी लाइफ में काफी फायदा भी होता है। इसलिए आप भी इस आदत को अपने जीवन में जरूर अपनाये। 


4 . आसानी से किसी पर भी भरोसा न करे:

एक होशियार इंसान की ये ही सबसे बड़ी पहचान होती है कि वो आसानी से किसी पर भी भरोसा नहीं करता है। वो हर कदम होशियारी बरतता है ताकि उसके साथ कोई किसी भी प्रकार का धोका न कर सके। 

और आज के समयँ ये जरुरी भी हो गया है क्यूंकि जहां पग पग पे लोगों के साथ धोका, फ़में रेब और गुनाह होने लगा है तो ऐसे में कोई भी आसानी से किसी पर क्यों भरोसा जतायेगा। 




5 . हालातों का पूर्व अंदाज़ा लगाना सीख ले:

हर एक इंसान अपने जीवन में कई बार मुश्किल हालातों का सामना जरूर करता है। कुछ लोग इससे भी अपने आपको बाहर निकाल लेते है। ऐसा वो इसलिए कर पाते है क्यूंकि उन्हें आने वाले बुरे वक्त और मुश्किल हालातों का थोड़ा बहुत अंदाज़ा जरूर हो जाता है। 

इसलिए ऐसा अपने जीवन में करना भी किसी बड़ी होशियारी से कम नहीं माना जाता है। 

आप ये भी जरूर पढ़े:


6 . समझदारी से काम ले:

कई बार आपके साथ कुछ ऐसे पल भी आये होंगे कि जब आपने किसी बात पर सामने वाले पर बहुत ज्यादा गुस्सा दिखाया होगा। खैर फैमिली के साथ तो थोड़ा बहुत चलता है लेकिन यदि ये ही बात आप जहा आप काम (नौकरी या बिज़नेस) करते हो वहां हो तो ऐसे में आपको नुक्सान उठाना पड़ सकता है। 

मेरे कहने का मतलब है कि आपके ऑफिस में यदि आप किसी कर्मचारी या अपने बॉस से झगड़ पड़ते है तो इससे आपको क्या नुकसान हो सकता है ये आप भी अंदाजा लगा सकते है। 

तो फिर बात ये है दोस्त! कि यदि आप थोड़ी समझदारी या चालाकी से काम ले तो शायद आप बुरे भी बने और आप चुपचाप अपना काम भी निकालते रहेंगे। बाकि आप तो समझदार है ही। 


7 . थोड़े से स्वार्थी और चालक भी बने:

वो बात तो आपने सुनी ही होगी न कि गरज पड़ने पर गधे को भी बाप बनाना पड़ता है। हालाँकि ये बात सिर्फ गरज पड़ने पर ही लागु नहीं होती बल्कि आज के समय में इसे आप हर वक्त और हर जगह आजमा सकते है क्यूंकि अब भोलेपन और हद से ज्यादा ईमानदारी दिखाने से कुछ नहीं होता बल्कि आप हर जगह खुद ही अपना नुक्सान करवा बैठोगे। 

इसलिए जरुरी है कि जब भी आपको किसी से कोई काम निकलवाना हो या कोई आपको अपने फायदे की लिए इस्तेमाल करना चाहता हो तो उस समय आप थोड़ी समझदारी और चालाकी दिखाते हुए पेश आये और उसे अपनी बात से राजी करने का प्रयास करें। आपका काम बन जायेगा। 

हालाँकि आपको इस बात का भी ध्यान रखना है कि इससे सामने को किसी प्रकार के जान माल का नुक्सान न हो। 

8 . दुसरो की गलतियों से भी सीखे:

दोस्तों बादाम खाने से अक्ल नहीं आती बल्कि ठोकर खाने से अक्ल आती है लेकिन एक समझदार इंसान दूसरों की गलतियों से भी काफी कुछ सीखता है। इसके लिए जरुरी नहीं कि आप पूरी जिंदगी ठोकरें ही खाते रहे क्यूंकि ऐसे तो आप अपना पैसा और समय दोनों ही बर्बाद करेंगे। 

इसलिए बेहतर होगा कि आप दूसरों की गलतियों से भी कुछ न कुछ सीखे और खुद उन गलतियों को करने से बचे।

9 . दुसरो से काम लेना सीखें:

दूसरों से काम लेना - एक ऐसी कला है जो हर किसी को नहीं आती है। इस कला के माहिर लोगों में गजब की लीडरशिप छुपी होती है। 
जहां एक सीधे सादे इंसान को हर कोई अपने काम के लिए रगड़ लेता है तो वही एक होशियार इंसान दूसरों से अपना काम निकलवाने में माहिर होते हैं। 



10 . हमेशा सजग व सचेत रहे:

दोस्तों समय का कोई भरोसा नहीं कि कब बदल जाये यानि कब कौनसा अच्छा या बुरा वक़्त आ जाये ये किसी को पहले से पता नहीं होता है लेकिन फिर भी आप थोड़ी बहुत तैयारी पहले से करके रखे तो हो सकता है कि आप भविष्य में दूसरों से ज्यादा फायदे में रहे। 

इसलिए आप अपने जीवन में हमेशा सजग रहे और समय आने पर उचित अवसर का भरपूर फायदा उठाए। इससे आप समय का सदुपयोग भी कर पाएंगे। 



 आखिर में,
तो मित्रों ये थी कुछ महत्वपूर्ण बातें जो हर इंसान को अपने जीवन में जरूर अपनानी चाहिए। आपको ये आर्टिकल (होशियार कैसे बने, अपने आपको होशियार कैसे बनाये) कैसा लगा हमें कमेंट द्वारा जरूर बताये। 

आप ये भी जरूर पढ़े :

Post a Comment

0 Comments