You are currently viewing शेयर मार्केट को कैसे समझें | शेयर मार्केट क्या है हिंदी में – Best Guide 2021

शेयर मार्केट को कैसे समझें | शेयर मार्केट क्या है हिंदी में – Best Guide 2021

आपने कभी न कभी शेयर मार्केट का नाम तो जरूर सुना ही होगा कि शेयर मार्केट से लोग खूब पैसा कमाते हैं। कुछ लोग यहाँ बहुत जल्दी अमीर भी बन जाते हैं तो कुछ लोग बिल्कुल ही कंगाल भी हो जाते हैं।

तो वास्तव में शेयर मार्केट क्या है और शेयर मार्केट को कैसे समझें? जानने के लिए आप इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े ताकि आपको शेयर मार्केट के बारे में पूरी जानकारी मिल सकें।

तो आईये शेयर मार्केट का गणित आसान भाषा में समझते हैं।

उस समय ये shares एक तरह से कागज के बने हुए ticket ही होते थे जिन्हें बहुत ही सुरक्षित तरीके से संभाल कर रखना पड़ता था।

लेकिन अब समय के साथ शेयर मार्केट का ये सारा काम काज भी ऑनलाइन ही हो गया हैं। अब ये shares पूरी तरह से डिजिटल हो चुके हैं जिस तरह से अब बैंको का काम ऑनलाइन हुआ हैं।

अब आपके मन में ये सवाल आ रहा होगा कि ये shares आते कहां से हैं यानि इनको बनाता कौन हैं और ये system काम कैसे करता हैं?

तो देखिए शेयर मार्केट (Stock Market) एक ऐसा मार्केट हैं जिसका नियंत्रण भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी या SEBI) के हाथ में होता है.

SEBI के कण्ट्रोल में ही Stock Exchnage जैसे -BSE (Bombay Stock Exchange) एवं NSE (National Stock Exchange) और अन्य 27 क्षेत्रीय एक्सचेंज काम करते हैं।

शेयर मार्केट क्या है हिंदी में जाने | शेयर मार्केट को कैसे समझें, what is share market in hindi, bombay stock exchange image, indian stock exchange, share market
BSE : (Bombay Stock Exchange)

BSE और NSE दोनों ही भारत के सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंज हैं जहां पर देश की सरकारी और निजी कंपनियां listed होती हैं और ये लिस्टेड निजी कंपनियां ही बाजार से ज्यादा पैसा जुटाने के लिए अपनी हिस्सेदारी जनता (public) को बेचती हैं और उतनी ही value के शेयर जारी करती हैं। इस प्रक्रिया को IPO (Initial Public Offering) कहा जाता हैं।

ये पूरी तरह से उस कंपनी पर ही निर्भर करता हैं कि वो कंपनी अपने कितने प्रतिशत हिस्से पर IPO लाती हैं यानि कितने शेयर जारी करती हैं।

जब कोई प्राइवेट कंपनी स्टॉक मार्केट में listed होती हैं तो फिर वो एक public company बन जाती हैं। इस प्रकार उसके shares आम जनता के लिए उपलध हो जाते हैं जिन्हें कोई भी खरीद और बेच सकता हैं।

इस प्रकार स्टॉक मार्केट में कई कम्पनियाँ listed हैं और पब्लिक उनके shares आपस में ही खरीदती और बेचती रहती हैं। और ऐसे ही शेयर मार्केट काम करता हैं।

आइये अब बात करते हैं कि shares की price value कैसे घटती बढ़ती हैं?

शेयर्स के दाम घटते बढ़ते क्यों हैं?

स्टॉक मार्केट में लिस्टेड सभी कंपनियों के shares के दाम अलग अलग होते हैं। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण हैं कंपनी का परफॉरमेंस यानि Profit और Loss कितना हैं। यानि कंपनी जैसा परफॉर्म करेगी उसके शेयर्स के दाम भी उसी तरह घटेंगे और बढ़ेंगे भी।

इसके अलावा भी ओर कई कारण हैं जिनसे शेयर मार्केट में उतार चढ़ाव आता रहता हैं जैसे – देश की economy कैसी चल रही हैं, अन्य देशों से संबंध कैसे हैं, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर युद्ध जैसे हालात, प्राकृतिक और मानव जनित आपदायें आदि।

इस प्रकार किसी shares के दाम बढ़ने पर उस share holder को मुनाफा (profit) होता हैं तो वहीं उस शेयर के दाम घट जाने पर शेयर होल्डर (जिसने शेयर खरीद रखे हैं) को नुकसान (loss) भी हो जाता हैं।

बाजार के ऊपर चढ़ने की स्थति को bullish (बैल) कहा जाता हैं तो वहीं बाजार के नीचे जाने की स्थिति bearish (भालू) कहा जाता है।

शेयर मार्केट क्या है हिंदी में जाने | शेयर मार्केट को कैसे समझें, what is share market in hindi, bombay stock exchange image, indian stock exchange, share market, bull and bear situation
Share Market Bull and Bear situation

हालाँकि दिनभर में शेयर के दाम कई बार ऊपर नीचे होते रहते हैं। और ये स्थिति लगातार कई दिनों तक बनी रह सकती हैं।

इसलिए एक investor और शेयर होल्डर को लगातार शेयर मार्केट को analyze करते रहना होता हैं और सही समय आने पर अपने shares को बेचना और नए शेयर को खरीदना होता हैं।

शेयर मार्केट में profit और loss पूरी तरह एक investor की रिसर्च और नॉलेज पर निर्भर करता हैं और जो ये काम अच्छी तरह से करना जानता हैं वो profit तो कमाते ही हैं साथ ही एक बड़े loss से बचे रह सकते हैं।

हालाँकि कोई कितना भी बड़ा ज्ञानी क्यों न हो इस मार्केट में कल क्या होगा ये कोई नहीं बता सकता। इसलिए शेयर मार्केट में अधिकांश भविष्यवाणियां सही साबित नहीं होती हैं।

यहाँ सिर्फ वो ही सफल हैं जो मार्केट को अच्छे से समझकर अपनी खुद की एक रणनीति (strategy) से काम करता हैं।

शेयर्स कितने प्रकार के होते हैं?

शेयर्स तीन प्रकार के होते हैं-

  • Equity Share (इक्विटी शेयर)
  • Preference Share (परेफरेंस शेयर)
  • DVR Share (Differential Voting Rights) डीवीआर शेयर

शेयर कैसे खरीदते है?

जब से शेयर मार्केट का काम ऑनलाइन हुआ हैं तब से आम आदमी के लिए इसमें ट्रेडिंग करना बेहद आसान हो गया हैं। अब हर कोई घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से शेयर मार्केट में invest कर सकता हैं।

हालाँकि आप डायरेक्ट स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग नहीं कर सकते। ये काम किसी broker के द्वारा ही कर सकते हैं।

इसके लिए आपको अपना एक डीमैट अकाउंट खुलवाना होगा। ये Demate Account आप किसी भी स्टॉक ब्रोकर या बैंक के पास ऑनलाइन खुलवा सकते हैं।

ये स्टॉक ब्रोकर investors और stock exchange के बीच की कड़ी होता हैं। इसके बिना शेयर मार्केट में कोई डील नहीं हो सकती।

शेयर मार्केट में जब भी कोई शेयर buy और sell किये जाते हैं तो वो सब orders इन स्टॉक borkers के द्वारा ही स्टॉक एक्सचेंज तक पहुंचाये जाते हैं।

ये स्टॉक brokers आपके हर एक transaction पे trading charge वसूलता हैं। हालाँकि कुछ स्टॉक ब्रोकर इसमें छूट भी देते हैं जिन्हें discount broker कहा जाता हैं।

इंडिया में 260 से भी ज्यादा SEBI registered शेयर ब्रोकर फर्म हैं। सबके अपने अपने सेवा शुल्क, नियम और शर्ते हैं। इनमें से आप अपनी पसंद के किसी भी ब्रोकरेज फर्म के पास अपना Demate Acount खुलवा सकते हैं।

लेकिन एक शुरुआती investor को किसी discount broker के पास ही अपना डीमैट अकाउंट खुलवाना चाहिए।

>>डीमैट अकाउंट क्या होता हैं , डीमैट अकॉउंट कैसे खुलवाये?

डीमैट अकाउंट खुलवाने का काम आप अपने मोबाइल से भी कर सकते हैं। कुछ पॉपुलर शेयर ब्रोकर का अपना Android app भी हैं जिनके द्वारा आप ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग आसानी से कर सकते हैं।

डीमैट अकाउंट के साथ ही यहाँ आपको एक trading account भी ओपन करके दिया जाता हैं। इस ट्रेडिंग अकाउंट के द्वारा आप शेयर खरीद और बेच सकते हो।

ये ट्रेडिंग अकाउंट आपके बैंक अकाउंट से लिंक होता हैं। इसके बाद जो शेयर आप खरींदेंगे वो सब आपके डीमैट अकाउंट में भी दिखाई देंगे।

इन accounts की मदद से आप shares के अलावा bond, mutual funds भी खरीद सकते हो। शेयर खरीदने से पहले आपको अपने बैंक अकाउंट से ट्रेडिंग अकाउंट में पैसे transfer करने पड़ते हैं। इसके बाद ही shares खरीद पाएंगे यानि आपका आर्डर execute होगा।

अब शेयर खरीदने के लिए आपको अपने डीमैट अकाउंट में जाकर अपने मन पसंद कंपनी के शेयर को सेलेक्ट करके उसे buy बटन पर क्लिक करके खरीदना होता हैं। और ठीक इसी तरह शेयर बेचने के लिए आपको sell बटन पर क्लिक करना पर होता हैं।

अच्छे शेयर कैसे चुने?

हालाँकि शेयर खरीदना बेहद आसान होता हैं लेकिन कौनसा शेयर खरीदना चाहिए ये काम थोड़ा कठिन होता हैं क्यूंकि इसके लिए आपको थोड़ी रिसर्च करनी होती हैं बाजार पर नजर रखनी पड़ती हैं। तभी आप एक profitable शेयर चुन पाएंगे।

अच्छे और प्रॉफिटेबल shares सेलेक्ट करने के लिए आप कंपनियों की पिछले एक साल की performance report जरूर पढ़े ताकि आपको कुछ हद तक इस बात का अंदाजा लग जाये कि वो कंपनी आगे चलकर आपको कुछ मुनाफा देगी या नहीं।

शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाये?

शेयर मार्केट से पैसे कमाने का सीधा सा फंडा हैं, कम से कम कीमत पर shares खरीदो और ज्यादा से ज्यादा ऊँचे दाम पर बेचो। इसके लिए आपके पोर्टफोलियो में जितने ज्यादा अच्छे shares होंगे उतना ही ज्यादा आप profit कमाएंगे।

आप चाहे तो अलग अलग कंपनियों के कई सारे shares खरीद सकते हो। ज्यादा प्रॉफिट कमाने के लिए एक इन्वेस्टर को अच्छे शेयर्स long time के लिए खरीदकर रखने चाहिए क्यूंकि लम्बे समय में कोई भी शेयर हमेशा प्रॉफिट ही देता हैं। फिर चाहे उसमें हर रोज़ कितना ही ज्यादा उतार चढ़ाव क्यों न आता हो।

शेयर मार्केट में प्रॉफिट कमाने के लिए जितना ज्यादा जरुरी हैं कि शेयर्स कैसे और कब खरीदे उतना ही ज्यादा ये जानना भी जरुरी हैं कि shares को कब बेचे। यानि आपको सही समय पर shares को बेचने की कला भी सीखनी होगी।

शेयर मार्केट में लालच से बचना भी बेहद जरुरी हैं क्यूंकि यहां एक बार थोड़ा बहुत प्रॉफिट हो जाने पर कुछ लोग लालच में आकर भारी मात्रा में पैसा इन्वेस्ट कर बैठते हैं जो उनके लिए एक बहुत बड़ा रिस्की फेक्टर हो सकता हैं।

एक ओर जरुरी बात कि कभी भी लोन लेकर शेयर मार्केट में invest नहीं करना चाहिए क्यूंकि यहाँ कल क्या होगा ये कोई नहीं जानता।

ऐसे में अगर loss हुआ तो उस loss के साथ साथ आप लोन चुकाने की स्थिति में भी नहीं रहेंगे और ऐसे में आप दिवालिया होने के कगार पर आ सकते हो।

इसलिए एक सुरक्षित तरीके से शेयर मार्केट में entry करने के लिए आपको उतना ही पैसा इस मार्केट में लगाना चाहिए जितना आप loss सह सकते हो या जिससे आपको ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा।

इसके बाद जब आपको इसमें थोड़ा अनुभव होने लगे तो आप थोड़ा ज्यादा पैसा इन्वेस्ट कर सकते हो। लेकिन मैं तो यही कहूंगा कि पहले आप शेयर मार्केट की थोड़ी बहुत नॉलेज लो और उसके बाद ही इसमें कदम रखो।

स्टार्टिंग में ही आप ये उम्मीद मत रखो कि आप यहाँ प्रॉफिट कमा ही लोगे। आपको इसमें टाइम लगेगा और तब तक आप काफी कुछ सीख भी जाओगे।

इसके साथ ही आप शेयर मार्केट की हर एक प्रकार की ट्रेडिंग करके देखो और जिसमें भी आपको अच्छा रिजल्ट मिले आप उसी ट्रेडिंग को करते जाये।

Conclusion:

इस आर्टिकल में आपने जाना कि शेयर मार्केट क्या है? उम्मीद करता हूँ कि अब आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा कि शेयर मार्केट क्या हैं। अगर आपको ये जानकरी पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों और परिवारजनों के साथ शेयर जरूर करें।

आप ये भी जरूर पढ़े:

Rakesh Verma

Rakesh Verma is a Blogger, Affiliate Marketer and passionate about Stock Photography.

Leave a Reply