You are currently viewing Web Hosting Kya Hai in Hindi | Web Hosting Best Guide 2022

Web Hosting Kya Hai in Hindi | Web Hosting Best Guide 2022

अगर आप एक Blogger हैं या अपनी एक वेबसाइट बनाने का प्लान हैं तो आपको अपने Blog या Website को Setup करने के लिए Domain के साथ ही एक अच्छी Web Hosting की भी जरुरत पड़ती हैं।

इसलिए सबसे पहले ये पता होना चाहिए कि Web Hosting Kya Hai, और web hosting kitne parkar ki hoti hai? इसके लिए आप इस पोस्ट को Completely जरूर पढ़े ताकि आप Web Hosting के बारे में सब कुछ जान सके। तो आईये जानते हैं Web Hosting Kya Hai in Hindi? (होस्टिंग मीनिंग इन हिंदी)

Web Hosting Kya Hai in Hindi (What is web hosting in Hindi):

इंटरनेट की दुनियां में Web Hosting एक जाना माना शब्द हैं। Web hosting दो शब्दों से मिलकर बना हैं – Web+Hosting. इसमें Web का मतलब Internet या Website होता हैं और Hosting का मतलब Internet की दुनियां में वो जगह हैं जहां पर कोई भी अपना Data (audio, video, images, text, etc) सेव करके रखता हैं।

और इस Data को किसी न किसी Computer पर Store करके रखा जाता हैं जिसे Web Server कहते हैं। इन Web Servers से ही कोई भी Data या Content यूजर तक पहुँचता हैं।

यानि जब भी कोई User किसी Website को Visit करता हैं तो Result में उस Website पर जो भी Content Show होता हैं तो Content उस Web Server से User तक पहुँच रहा होता हैं।

यानि हम यह कह सकते हैं कि Internet हमें जो भी कंटेंट दिखाता हैं वो कंटेंट किसी न किसी वेब सर्वर पर Hostewd (Stored) किया हुआ हैं जहां से वो Data इंटरनेट द्वारा हम तक पहुँच रहा होता हैं।

Web Server क्या हैं?

Web Server एक ऐसा Powerful Computer होता हैं जिसका Hardware और Networking System बहुत Powerful होता हैं जो कि Internet से जुड़ा रहता हैं और जो 24 घंटे Power On रहता हैं।

वैसे अगर आप चाहे तो अपने Personal Computer को भी एक Web Server बन सकता हैं लेकिन इसके लिए आपको उसके Software में बदलाव करना होगा और उसे 24 घंटे On रखना होगा तथा उसमें Internet Connection भी देना होगा।

लेकिन ऐसा करना हमारे लिए न तो फायदे का सौदा हैं और न ही ये हर किसी के लिए Possible हो पाता हैं। इसलिए इस Problem के Solution के लिए कुछ कंपनियों ने बड़े बड़े Data Centers बनाये हैं जहां पर कई Powerful Computers होते हैं जिनकी Disk Space and Processing Speed काफी ज्यादा Fast होती हैं।

इन Data Centers के Computers में Millions Websites का Data Store होता हैं जिसके लिए ये Hosting Provider कंपनियां कुछ Charge (Monthly या Yearly) लेकर Hosting Provide करती हैं।

इसके लिए ये कंपनियां अलग अलग Plans Offer करती हैं। अब लोग चाहे अपने अनुसार Suitable Web Hosting Plan ले सकते हैं।

जिस तरह अभी आप acchagyan.com पर इस पोस्ट (Web Hosting Kya Hai in Hindi) को पढ़ रहे हैं तो इसका मतलब भी ये हैं किहमारी ये वेबसाइट भी Internet की दुनियां में किसी न किसी Web Server पर Hosted हैं जिससे आप तक ये Content पहुँच रहा हैं और मैं जब तक इस वेबसाइट को वेब सर्वर पर Host करके रखना चाहूँ तब तक ये पोस्ट मेरे Web Server में Hosted रहेगी और तब तक मुझे उसका चार्ज अपनी Web Hosting कंपनी को देना होगा। और तब तक ही मेरी वेबसाइट का Content अपने Users तक पहुँच पायेगा।

यानि हम यह कह सकते हैं कि जब Data किसी Web Server पर Hosted हैं तब तब user उस Data या Content को Access कर सकता हैं।

Web Hosting कितने प्रकार की होती हैं? (Types of Web Hosting):

Friends, आपने यह तो जान लिया कि Web Hosting क्या होती हैं। इसके बाद अब हम जानेंगे कि Web Hosting कितने प्रकार की होती हैं?

तो Web hosting 4 प्रकार की होती हैं।

  1. Shared Web Hosting,
  2. VPS (Vertual Private Server)
  3. Dedicated Hosting
  4. Cloud Web Hosting

1. Shared Web Hosting:

Shared Web Hosting के तहत एक ही Server Computer में कई सारी Websites होस्ट की जाती हैं यानि Server पर Multiple Websites का Data स्टोर करके रखा जाता हैं तो इसे Shares Web Hosting कहा जाता हैं।

Web Hosting Kya Hai in Hindi, shared hosting image
Shared Hosting Server

यह ठीक उसी तरह ही हैं जैसे किसी एक Room को कई लोगों द्वारा Share करना। ठीक उसी तरह Shared Web Hosting में भी ऐसा ही होता हैं।

Shared Web Hosting में Server Computer का जितना भी Disk Space होता हैं वो Disk Space सारी Hosted Websites के लिए Divideकर दिया जाता हैं।

Shared Web Hosting के फायदे:
  • ये सबसे सस्ती Web Hosting Service हैं जो कि एक New Blogger यूज़ करता हैं।
  • कम Traffic वाली New Website के लिए Shared Web Hosting काफी अच्छी मानी जाती हैं। इसमें 1000 तक Traffic आसानी से handle हो जाता हैं।
  • इसमें User को Control Panel के द्वारा आसानी से अपनी Websites का Data Handle किया जा सकता हैं।
Shared Web Hosting के नुकसान:
  • इसमें Users को ज्यादा Bandwidth, RAM नहीं मिलती हैं और Disk Space भी Limited ही मिलता हैं।
  • Website पर ज्यादा Traffic आने पर वेबसाइट का Load Timing भी बढ़ने लगता हैं। कभी कभी तो Website Hang तक हो जाती हैं।
  • इसमें Web Hosting Companies ज्यादा Support नहीं करती हैं।
  • Shared Web Hosting में Security भी एक major Problem हैं।

2. VPS (Virtual Private Network) Web Hosting:

जब एक Powerful Server को Software के माध्यम से Virtually कई Parts में Divide कर दिया जाता हैं तो इसे VPS Web Hosting कहते हैं।

Web Hosting Kya Hai in Hindi, vps hosting, What is web hosting in Hindi
VPS Server

इसमें उन छोटे छोटे Virtual Parts को Personally किसी एक User को Allot कर दिया जाता हैं जिसमें User को उस पूरे हिस्से का use करने की Permission होती हैं। इसमें आपको Hosting किसी के साथ Share नहीं करनी पड़ती हैं।

VPSs Web Hosting किसी एक Personal Room की तरह होता हैं जिसमें जब तक आप रहते हो तब तक रहते हो तब तक केवल आप उस Room की सभी चीजों का Fully यूज़ कर सकते हो।

VPS Web Hosting के फायदे:
  • इसमें User को किसी के साथ Hosting Share नहीं करनी पड़ती हैं। यानि यूजर पूरे VPS Server का यूज़ कर सकता हैं।
  • ये Shared Web Hosting से ज्यादा Secure और Fast Service होती है जिसमें वेबसाइट पर ज्यादा Traffic होने पर भी साइट की Loading Speed कम नहीं होती हैं।
  • इसमें Hosting Company यूजर को Better Support प्रदान करती हैं।
  • इसमें यूजर को Fully Control करने की Permission मिलती हैं जिससे यूजर जैसे चाहे Customize (bandwidth, memory udgrade etc.) कर सकते हैं।
  • VPS Web Hosting की Service बाकी Hosting के मुकाबले सबसे अच्छी मानी जाती हैं।
VPS Web Hosting के नुकसान:
  • ये होस्टिंग सर्विस Shared Hosting की तुलना में ज्यादा Costly (महँगी) होती हैं जिसे हर एक यूजर Afford नहीं कर पाता हैं।
  • इसको यूज़ करने के लिए आपको ज्यादा Technical Knowledge होना जरुरी हैं।

3. Dedicated Web Hosting:

ये Web Hostig उसे Buildig की तरह है जिसका सिर्फ एक ही मालिक होता हैं जो उस पूरी Building का use अपने लिए करता हैं। वो मालिक उस पूरी Building को अपने अनुसार यूज़ कर सकता हैं। इसके साथ ही उस बिल्डिंग की Maintanance और किराया भी उसी मालिक को देना होता हैं।

Web Hosting Kya Hai in Hindi, Dedicated Web Hosting
Dedicated Web Hosting

ठीक इसी तरह Dedicated Web Hosting में भी एक Powerful Server Computer यूजर को Allot कर दिया जाता हैं जिस पर पूरा Control एक ही यूजर का होता हैं।

इसमें किसी भी प्रकार की Hosting शेयर नहीं की जाती हैं। इस Web Hosting का यूज़ ज्यादातर वो लोग करते हैंजिनकी वेबसाइट पर Millions में Traffic आता हैं।

Dedicated Web Hosting के फायदे:
  • ये वेब होस्टिंग सबसे ज्यादा Fast and Secure होती हैं।
  • इसमें Million of Traffic को Handle करने की Power होती है।
  • इसमें Server को Fully Control और Access करने का अधिकार Client को दिया जाता हैं।
Dedicated Web Hosting के नुकसान:
  • ये एक बहुत ही ज्यादा Costly Service हैं जिसे हर कोई Afford नहीं कर पाता हैं।
  • इसके लिए यूजर को बहुत ज्यादा Technical Knowledge की जरूरत होती हैं।

4. Cloud Web Hosting:

Web Hosting की दुनिया में ये एक नया नाम हैं जिसे आजकल हर कोई पसंद करने लगा हैं। इसकी Technology बाकि Web Hosting से थोड़ी Different हैं।

इसमें एक Website का Data दुनिया भर के अलग अलग Web Servers में Store होता हैं और ये सभी Web Servers आपस में जुड़कर एक Cluster बनाते हैं यानि एक Virtual Server तैयार करते हैं।

Web Hosting Kya Hai in Hindi, What is web hosting in Hindi, cloud Hosting
Cloud Server

जिस तरह एक Cloud (बादल) उड़ते हुए अलग अलग जगह Travel करते हैं कभी एक जगह रुकते नहीं हैं ठीक इसी तरह Cloud Web Hosting में भी एक Website का Data अलग अलग Virtual Servers से प्राप्त किया जाता हैं।

इसका फायदा यह होता हैं कि जब कोई यूजर वेबसाइट को विजिट करता हैं तो उस यूजर को Data अपने देश के नजदीकी Server से ही प्राप्त होता हैं।

उदाहरण के लिए मान लीजिए आप इंडिया से हैं और यदि आप एक ऐसी वेबसाइट को visit कर रहे है जो Cloud based Server पर Hosted हैं तो ऐसे में आपको जो Data मिलेगा वो India के Server से ही मिलेगा।

Cloud Web Hosting के फायदे:
  • इसमें सबसे बड़ा फायदा यह होता हैं कि आपकी वेबसाइट कभी भी Down नहीं होती हैं क्यूंकि वेबसाइट का साराडाटा Cloud Server मिलता रहता हैं।
  • इसमें वेबसाइट बहुत Fast Load होती हैं।
  • इसमें Website की Security भी बहुत ज्यादा रहती हैं।
  • इसमें High Traffic को भी आसानी से Handle किया जा सकता हैं।
  • इसमें Data Currupt होने केChance न के बराबर होते हैं।
Cloud Web Hosting के नुकसान:
  • इसमें आपको Root Access की सुविधा नहीं मिलती हैं।
  • ये सर्विस बाकि Hosting Plans की तुलना में थोड़ी ज्यादा महंगी हैं।

Conclusion:

तो Friends, अब आप भी समझ गए होंगे कि Web Hosting क्या हैं और ये कितने प्रकार की होती हैं। साथ ही आपने ये भी जाना कि Web Server क्या होते हैं। इसके साथ ही अलग अलग Web Hosting और उनके फायदे नुकसान के बारे में भी आपने विस्तार से जाना।

मुझे उम्मीद हैं कि आपको Web Hosting के बारे में जानकारी जरूर पसंद आयी होगी। इसका फायदा अन्य लोगों को भी हो इसलिए इसे अपने दोस्तों के साथ Share जरूर करें। साथ ही यदि आपके कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे Comment करके जरूर पूछे। मैं जल्दी ही आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करूँगा।

आप ये भी जरूर पढ़े:

Rakesh Verma

Rakesh Verma is a Blogger, Affiliate Marketer and passionate about Stock Photography.

Leave a Reply