Jet Stream Kya Hai (जेट स्ट्रीम) – Best Guide 2021

Jet Stream Kya Hai (जेट स्ट्रीम) – Best Guide 2021

Jet Stream Kya Hai (jet stream की परिभाषा):

जेट स्ट्रीम उच्च स्तरीय पवन संचार व्यवस्था का अंग हैं जिसमें शोभ मंडल (troposphere) की ऊपरी परतों में (शोभ सीमा के समीप) पश्चिम से पूर्व की ओर अत्यंत तीव्र गति से चलने वाली पवन धाराएं मौजूद होती हैं। इनकी तीव्रता एवं तेज शोर के कारण ही इन वायु धाराओं को जेट स्ट्रीम कहा जाता हैं।

जेट स्ट्रीम कहां चलती है?

ये पवन धाराएं 6000 से 12000 मीटर की ऊंचाई के बीच दोनों ही गोलार्धों के चारों ओर वर्ष भर निरंतर प्रवाहित होती रहती हैं। इनकी गति 300 से 500 किलोमीटर प्रति घंटा तक होती हैं। इनकी गति हमेशा बदलती रहती हैं।

जेट स्ट्रीम सिद्धांत किसने दिया?

इन पवन धाराओं की खोज का श्रेय द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अमरीकी बमवर्षक विमान चालकों को जाता हैं। इन ऊपरी वायुमण्डल की हवाओं के लिए जेट स्ट्रीम शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम 1947 में C. G. Rossby द्वारा किया गया।

जेट स्ट्रीम किस मंडल में पाई जाती है?

जेट स्ट्रीम ऊपरी शोभ मंडल एवं समताप मंडल के बीच में हजारों किलोमीटर लम्बी एक लहरदार पट्टी के रूप में बहती रहती हैं और इसके मध्य में हवाएं काफी तीव्रता के साथ चलती हैं। इसलिए इसे धारा कहते हैं।

ऋतू के अनुसार इनका वेग बदलता रहता हैं। ग्रीष्म ऋतू की अपेक्षा शीत ऋतू में जेट स्ट्रीम काफी तेजी से चलती हैं। इस धारा का सर्वाधिक औसत वेग उपोष्ण कटिबंधीय उच्च भार वाले क्षेत्रों के ऊपर होता हैं।

सूर्य के दक्षिणायन और उत्तरायण होने के साथ साथ जेट स्ट्रीम का भी स्थानांतरण होता रहता हैं। जेट स्ट्रीम की मदद से मानसून की उत्पत्ति की क्रिया -विधि जानने में सबसे आधुनिक एवं विश्वसनीय सिद्धांत के रूप में बल मिलता हैं।

At Last:

तो दोस्तों इस आर्टिकल में आपने जाना कि Jet Stream Kya Hai? अगर ये जानकारी आपके लिए उपयोगी रही हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें। इस ब्लॉग के लिए आपके कोई सवाल या कोई सुझाव हो तो कृपया कमेंट करके जरूर बताये।

आप ये भी जरूर पढ़े:

Rakesh Verma

Rakesh Verma is a Blogger, Affiliate Marketer and passionate about Stock Photography.

Leave a Reply