You are currently viewing कोयला क्या है? | Kayla Ke Prakar | कोयला के उत्पादक क्षेत्र 2022

कोयला क्या है? | Kayla Ke Prakar | कोयला के उत्पादक क्षेत्र 2022

आज इस लेख में आप जानेंगे कि कोयला क्या है? कोयला कितने प्रकार का होता हैं? (Kayla Ke Prakar) एवं कोयला के उत्पादक क्षेत्र कौन कौनसे हैं? आईये जानते हैं:

कोयला क्या हैं?

कोयला एक ठोस कार्बनिक पदार्थ हैं जो ईंधन के रूप में प्रयोग किया जाता हैं। कोयला मुख्यतः कार्बोनिफेरस काल की परतदार चट्टानों में पाया जाता हैं। यह औद्योगिक क्रांति का आधार रहा है, अतः इसे उद्योगों की जननी भी कहा जाता हैं। वर्तमान की लगभग 35 से 40% ऊर्जा की जरूरत का भाग कोयले से प्राप्त होता हैं।

Kayla Ke Prakar:

कार्बन की मात्रा के आधार पर कोयला चार प्रकार का होता हैं:

1. एन्थ्रेसाइट कोयला:

कोयला क्या है? | Kayla Ke Prakar | कोयला के उत्पादक क्षेत्र
Kayla Ke Prakar: Coal_anthracite

यह सर्वोत्तम किस्म का कोयला है, जिसमें कार्बन की मात्रा 94 से 98 प्रतिशत तक होती है। यह कोयला मजबूत एवं चमकदार काले रंग का होता हैं। विश्व में उत्पादित होने वाले कोयले का मात्र 5 प्रतिशत ही एन्थ्रेसाइट होता है।

2. बिटुमिनस कोयला:

इसमें कार्बन की मात्रा 77 से 86 प्रतिशत तक होती है। एक एक ठोस अवसादी चट्टान का रूप हैं जो काला या गहरे भूरे रंग का होता हैं। विश्व में उत्पादित कुल कोयले का 80 प्रतिशत से भी अधिक इसी प्रकार का होता हैं।

3. लिग्नाइट कोयला:

इसका रंग भूरा होता हैं तथा कार्बन की मात्रा 45 से 70 प्रतिशत होता हैं। यह जलते समय धुंआ बहुत ज्यादा पैदा करता हैं। इसलिए यह पर्यावरण एवं स्वास्थ्य के लिए घातक हैं।

4. पीट कोयला:

यह सबसे निम्न कोटि का कोयला होता हैं, जिसमें कार्बन की मात्रा काफी कम (27 प्रतिशत) तथा आर्द्रता की मात्रा अधिक होती हैं। इसमें धुएं की मात्रा सबसे कम होती हैं।

कोयला के प्रमुख उत्पादक क्षेत्र –

चीन- यहां कोयला का भंडार मुख्यतः उत्तरी भाग में पाया जाता है। शांसी, शेन्सी, कान्सु आदि महत्वपूर्ण खनन केंद्र हैं।

अमेरिका – इस देश के पेंसिल्वेनिया क्षेत्र में विश्व का सबसे बड़ा एन्थ्रेसाइट कोयले का भण्डार संचित है।अप्लेशियन क्षेत्र इस देश का सबसे बड़ा कोयला उत्पादक क्षेत्र है, जहां मुख्यतः बिटुमिनस कोयला पाया जाता है।

स्वतंत्र राष्ट्रकुल – यूक्रेन के डोनबास क्षेत्र में ऐंथ्रासाइट कोयला पाया जाता हैं। रूस के कुजबास या कुज्नेतस्क क्षेत्र में उच्च कोटि का बिटुमिनस कोयला पाया जाता हैं।

कजाकिस्तान का कारगंडा अन्य प्रमुख उत्पादक क्षेत्र हैं। ब्रिटेन – नादंबरलैंड – डरहस, यार्कशायर – डर्बीशायर – नाटिंघम, मिडलैंड, लंकाशायर, वेल्स आदि।

रूर घाटी क्षेत्र जर्मनी का सबसे बड़ा कोयला उत्पादक क्षेत्र है। सैक्सोनी क्षेत्र लिग्नाइट के उत्पादन के लिए विश्व प्रसिद्ध है। फ्रांस – सार क्षेत्र। पोलैंड – साइलेशिया क्षेत्र। ऑस्ट्रेलिया – हंटर घाटी, न्यू साउथ वेल्स प्रान्त।

भारत में कोयले का उत्पादन झारखंड, पश्चिमी बंगाल, मध्यप्रदेश, उड़ीसा एवं आंध्रप्रदेश में किया जाता हैं।

At Last:

इस पोस्ट में आपने जाना कि कोयला क्या है?, Kayla Ke Prakar, कोयला के उत्पादक क्षेत्र कौनसे हैं। यदि यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें।

आप ये भी जरूर पढ़े:

Rakesh Verma

Rakesh Verma is a Blogger, Affiliate Marketer and passionate about Stock Photography.

Leave a Reply