एक Perfect Resume कैसे बनाये | Resume बनाते वक्त किन बातो का ध्यान रखना चाहिए ?

हेलो दोस्तों, क्या आप अपनी क्वालिफिकेशन के अनुसार एक बेस्ट जॉब की तलाश में है और जानना चाहते है की एक Perfect Resume कैसे बनाये? तो यह पोस्ट आपको जरूर पड़नी चाहिए क्यूंकि आज मैं आपको इस पोस्ट में यही बताने जा रहा हु कि एक Perfect Resume कैसे बनाये और आपको Resume बनाते वक्त किन बातो का ध्यान रखना चाहिए ? 

दोस्तों, एक अच्छी जॉब पाने के लिए आपका बनाया हुआ रिज्यूमे(resume) काफी अहम रोल अदा करता है। इसलिए इसे सिर्फ एक नार्मल बायोडाटा मानकर नजरअंदाज करना ठीक नहीं होगा क्यूंकि आज के इस प्रतिस्पर्धात्मक दौर में एक अच्छी जॉब पाने के लिए हर कोई अपने स्तर पर खूब मेहनत भी करता है और यही चाहता कि किसी भी तरह नौकरी के लिए उसे ही सेलेक्ट कर लिया जाये। 

इसलिए जरुरी है कि पहले आप एक अच्छा Resume तैयार करे ताकि आप किसी भी इंटरव्यू में जाये तो आपके सिलेक्शन के चांस ज्यादा हो। 

तो आईये जानते है कि 
एक Perfect Resume कैसे बनाये और आपको Resume बनाते वक्त किन बातो का ध्यान रखना चाहिए ?
resume kaise banaye; how to make a resume; how to create resume; cv kaise banaye; boidata kaise banaye;
Resume कैसे बनाये | Resume बनाते वक्त किन बातो का ध्यान रखना चाहिए ?

कंप्यूटर में एक Perfect Resume कैसे बनाये ?

कंप्यूटर में रिज्यूमे बनाने के लिए आपको MS-Word को ओपन कर लेना है। इसके बाद New मेन्यू में जाकर या ctrl+N दबाकर एक नयी ब्लेंक फाइल ओपन कर लेना है। अब आप अपना resume टाइप करना शुरू कर सकते है परन्तु यहाँ आपको कुछ बातो का ध्यान रखना है जिनका विवरण नीचे दिया जा रहा है। 


1- Font:

रिज्यूमे टाइप करते समय आपको ज्यादा स्टाइलिश फॉण्ट सेलेक्ट नहीं करना है बल्कि नार्मल फॉण्ट ही यूज़ करना है जैसे Times New Roman, Ariel, Impact आदि। 

फॉण्ट साइज भी आपको न तो ज्यादा बड़ी रखनी है और न ही ज्यादा छोटी। नॉर्मली 12 और 14 ही ठीक रहती है। 


इसके अलावा आप रिज्यूमे को रंगीन बनाने की कोशिश न करे। मतलब आप पूरे कंटेंट का सिर्फ एक ही फॉण्ट कलर रखे। अगर आप ब्लेक कलर यूज करेंगे तो ज्यादा अच्छा रहेगा क्योकी ये ज्यादा प्रोफेशनल लुक देता है।



2- Content:

कंटेंट से मतलब आपके resume में टाइप होने वाली सामग्री (matter) से है। आपको अपने resume में सिर्फ काम की ही बातें लिखे। इसमें आप झूठी और काल्पनिक बातें शामिल न करे। इसके अलावा आप अपने resume को बेवजह ज्यादा बड़ा खींचने की कोशिश न करे। इसे अधिकतम 2 दो पेज तक ही सिमित रखने की कोशिश करे क्यूंकि ज्यादा बड़े resume को कोई भी पूरा नहीं पढ़ता है। 


3- Grammer:

Resume बनाते समय अक्सर टाइपिंग मिस्टेक या grammer मिस्टेक रह जाती है जो कि किसी भी recruiter को अच्छी नहींलगती है और इससे सामने वाले में हमारे लिए नेगेटिव प्रभाव बन जाता है। अतः आप रिज्यूम को जब पूरा टाइप कर ले तो अंत में उसे एक बार अच्छी तरह से चेक जरूर कर ले। 
 

4- Profile:

जब आप resume बनाये तो सबसे पहले अपनी प्रोफाइल के बारे में लिखे जिसमे अपना नाम, पता, मोबाइल या फ़ोन नंबर, ईमेल(यदि हो तो). 

इसके बाद अगले कॉलम में अपना शार्ट बायोडाटा लिखे जिसमे अपना नाम, पिता या पति का नाम, जन्मथिति, भाषा( जो आप लिखना, पढ़ना और बोलना जानते हो),



5- Career Objective:

Career Objective अपने काम के प्रति आपकी कमिटमेंट होती जो आप आपके अपने recruiter से करते हो। इससे आपके काम करने की स्टाइल और कंपनी व काम के प्रति आपका समर्पण भाव झलकता है। इसलिए आप अपनी प्रोफाइल से मैच करता हुआ Career Objective ही लिखे। इसके लिए आप इंटरनेट सर्च करके भी देख सकते हो।  

6- Education:

इसमें आप अपनी Academic Qualification का जिक्र करे। यदि आपने एक से ज्यादा डिग्री या डिप्लोमा कोर्स किये हुए है तो इन्हे आप अलग अलग पॉइंट बनाकर लिखे। 

आप चाहे तो इन्हे टेबल फॉर्मेट में भी लिख सकते है परन्तु आजकल टेबल फॉर्मेट का यूज़ बहुत कम किया जाता है। इसके बजाय आप उन पॉइंट्स को bullet List फॉर्मेट भी लिख सकते है। 


7- Experiance:

एजुकेशन के बाद आप अपने वर्क एक्सपीरियन्स के बारे में विस्तार से बताये। इसमें आप अपने सभी वर्क एक्सपेरिएंस को शेयर कर सकते हो। इसमें आप अपने सभी अनुभवों का जिक्र अलग अलग पॉइंट बनाते हुए ही करे। आप सभी पॉइंट्स को date wise सॉर्ट करते हुए लिखेंगे तो ज्यादा बेहतर होगा। 


8- Skills:

स्किल का मतलब किसी काम को करने का कौशल या गुण होता है। यानि आपके पास एजुकेशन और एक्सपीरियन्स के अलावा किसी अन्य काम को करने का क्या क्या हुनर है, जैसे हो सकता है की आपको फोटोग्राफी करने का हुनर हो, या आपको पब्लिक स्पीकिंग अति हो, या आप किसी को अपनी बात मनवाने में माहिर हो, या गाड़ी अच्छी चला लेते हो आदि कुछ भी हो सकता है। 

तो इस प्रकार आप अपने अंदर मौजूद सभी स्किल का जिक्र अपने resume में जरूर करे क्यूंकि इससे कंपनी में आपको कोई नया रोल मिल जाये या हो सकता है कि आगे चलकर आपकी ये स्किल आपके जल्दी प्रमोशन का कारण बन जाये। 


अंत में, 

तो दोस्तों अब आप भी जान गए होंगे की एक Perfect Resume कैसे बनाया जाता है और resume बनाते वक्त किन बातो का ध्यान रखना चाहिए। मैं उम्मीद करता कि ये पोस्ट आपको पसंद आयी होगी। इसे अपने दोस्तों में शेयर जरूर करे। और आपके कोई सवाल या सुझाव हो तो हमे कमेंट करके जरूर बताये। 

धन्यवाद। 
आप ये भी पढ़े:
   # ऑनलाइन IAS एग्जाम की तैयारी कैसे करें ?
   # आप एक IAS ऑफिसर कैसे बनेंगे ? 
   # किसी भी एग्जाम में टॉप कैसे करे ?











Previous
Next Post »

Thanks for Comment ConversionConversion EmoticonEmoticon